Monday, 12 August 2013

जय जवान



आज प्रस्तुत हाइकु हमारे देश की आज़ादी को स्थापित करने और उसे सतत बनाए रखने के लिए हमारी सीमाओं पर दिन-रात ड्यूटी में लगे तमाम वीर सैनिकों/शहीदों  को सादर नमन करते हुए समर्पित हैं:

ऐ मेरे देश
तुझको समर्पित
मेरा सर्वस्व
    ***
लड़ा मौत से
अंतिम साँसों तक
देश के लिए
       ***
देश के लिए
हँसकर दे जान
वो ही महान
       ***
धन्य वो वीर
माँ की रक्षा के लिए
प्राण गँवाए
       ***
देश के लिए
हँसकर दी जान
जय जवान
       ***
गिद्ध के जैसे
सीमा पर प्रहरी
आँख गड़ाए
       ***
जय जवान
करते हिफ़ाज़त
तुम देश की

       ***

1 comment:

  1. देशप्रेम से ओतप्रोत.

    रामराम.

    ReplyDelete